दृष्टिकोण(लक्ष्य)|vision-mission-2016-17

दृष्टिकोण(लक्ष्य)

ऐसे विद्यार्थियों का निर्माण करना जो समृद्ध सौन्दर्य बोध से युक्त, बौद्धिक रुप से जागरुक तथा जीवन की चुनौतियों के प्रति संघर्षशील हो। विशेषकर आर्थिक व सामाजिक रुप से कमजोर वर्गों से संबंधित विद्यार्थियों की देखरेख करते हुए उनको विकास के मामले में समृद्ध वर्ग के समकक्ष लाना है। 

ध्येय

  1. विद्यार्थियों को सम्मानजनक और सुरक्षित बहु सांस्कृतिक वातावरण उपलब्ध कराना ताकि वे वैयक्तिक, सामाजिक व परिवेश जनित उत्तरदायित्वों को आत्मसात कर सकें।
  2. अधिगम के सरल बोध के लिए विद्यार्थियों को अत्याधुनिक तकनीक युक्त कक्षा-कक्ष उपलब्ध कराना।
  3. उच्च चारित्रिक गुणों से युक्त एक ऐसी पीढ़ी का निर्माण करना जो स्वयं अपने भाग्य का सृजन कर सकें ।
  4. एक ऐसे समुदाय को प्रोत्साहित करना जो भविष्य में एक उत्तरदायित्व पूर्ण संरक्षक बन सकें ।
  5. विद्यार्थियों के स्वास्थ्य और शारीरिक क्षमताओं की देखरेख करते हुए उनकी शैक्षणिक उपलब्धियों में सुधार करना।